रविवार, 11 अगस्त 2013

देश की सुरक्षा खतरे में है

शायद ये संजोग ही है संसद सत्र चालू है और हमारे 5 सैनिको की हत्या पाकिस्तान द्वारा कर दी गई ,अब दो चार दिन संसद में नेतावो के द्वारा हल्ला मचेगा, हो सकता है संसद को इस बहाने से भी टला भी जायेगा ,मिडिया ज़यादा शोर मचाएगा तो पीड़ित परिवारों को कुछ मुवावजा भी दे दिया जाएगा ,,,,,,,,,,
इन सैनिको के शव जब इनके घर पहुचेगे तो घर वाले रो रो कर बेहोस होंगे क्युकी उनकी तो दुनिया ही उज़र गई....... बेचारे सोचेंगे की अगर हम भी पैसे वाले होते तो अपने बच्चे को फोजी न बनाते ,परोसी इनकी अच्छाई गिनायेगे और पाकिस्तान को गाली देगे ,लोकल नेता भी इन्हें शहीद बतायेगे और लम्बे लम्बे भासन देंगे ,कई झूठे सच्चे वादे होंगे, अगर स्थानिये लोगो का समर्थन शहीद के साथ कुछ ज्यादा हो तो कोई बरा नेता भी मृतक के घर पर आ जायेगा ,या फिर उस इलाके में अगर चुनाव हो तो पक्का कोई बरा नेता घर आएगा और मुवाबजे की रकम भी थोरा जयादा मिलेगा ,हर बार की यही कहानी है ,,,,,,,,,,
कुछ दिन पहले भी दो सैनिको का सर काट कर पाकिस्तानी ले गए थे ,उससे पहले भी अनगिनत बार हमारे जावन हताहत हुए है ,बीजेपी काग्रेस पर आरोप लगाएगी ,कांग्रेस कहेगी की NDA के शासन में तो इससे भी कुछ जयादा ही बुरा हुआ था फिर दोनों पार्टी के लोग एक दुसरे पर आरोप लगायेंगे ,बाकि पार्टियों के नेता भी इस बहती गंगा में हाथ धोवेंगे ,सब पीड़ित परिवार और पाकिस्तान को भूल गायेंगे ,देस का भी धयान किसी दुसरे मुद्दे पर अटक जायेगा यहाँ मुद्दों की कमी तो है नहीं ,
फिर कुछ दिन के बाद हमारे नेतावो का अल्पसंख्यक प्रेम ज़गेगा फिर पाकिस्तान से दोस्ती की बात चलेगी फिर क्रिकेट की बात होगी ,मुशायरो की बात होगी जावेद अख्तर बोलेंगे, महेस भट्ट बोलेंगे ,लालू बोलेंगे ,मुलायम बोलेंगे ,हो सकता है बीजेपी चुप रहे शिवसेना बिरोध करे,,,,,,,,,,,,,,,,

पर सब उन शहीदों को और उनके परिवारों को भूल चुके होंगे ,आज पाकिस्तान ने हमारे सैनिको को मारा कल बंगलादेस या चीन मरेगा ,,,,,,,,,,,,,,,,सरहद पर फिर से हमारे ज़वान राजनीति के वास्ते मरने के लिए फिर से पहरे लगा रहे होंगे !!!!!!!!!!!!!